जानिए Parts of Computer की पूरी जानकारी हिंदी में

0
188
What is Parts of Computer in Hindi - कंप्यूटर के भाग
Parts of Computer in Hindi

दोस्तों आज हम जानेंगे What is Parts of Computer in Hindi के बारे में. आप सभी ने मुझे काफी टाइम से कई सारे मैसेज किये की मैं कंप्यूटर के पार्ट्स के बारे में लिखू और आपको आसानी से समझाऊ की आखिर ये क्या होते है. तो इसीलिए मैने आज आपके लिए यही टॉपिक चुना है.

वैसे तो कंप्यूटर के भागो को हम बचपन से ही क़िताबों में देखते और सुनते आ रहे है पर फिर जब भी कही पर हमसे पूछा जाता है. तो अक्सर हम कंफ्यूज हो जाते है की आखिर कंप्यूटर के कितने Parts होते है. तो दोस्तों मैं आपको पूरी तरह विश्वास दिलाता हूँ की आपकी ये कन्फूशन इस ब्लॉग के आखिर तक आसानी से दूर हो जायेगी. साथ ही आपको इस ब्लॉग में Input / Output devices, Storage device के बारे में भी जानने को मिलेगा. तो चलिए दोस्तों बिना टाइम वेस्ट किये जानते है क्या है Parts of Computer हिंदी में.

What is Parts of Computer in Hindi कंप्यूटर के भाग

Computer के भागो को मुख्य रूप से 4 अलग अलग भागो में बाटा गया है –

  1. Input Devices
  2. Output Devices
  3. CPU
  4. Storage Devices
What is Parts of Computer in Hindi - कंप्यूटर के भाग
Parts of Computer in Hindi

इनमें आने वाले सभी devices कंप्यूटर के पार्ट ही है चलिए अब इन्हे और अच्छे से जानते है –

Input Device Parts of Computer

Computer में किसी भी तरह के डाटा को डालने या कंप्यूटर को निर्देश / आदेश देने के के लिए जिन devices का इस्तेमाल जाता है उन्हें Input Device कहते है – जैसे Keyboard, Mouse, Joystick, Scanner, Bar Code Reader आदि सभी input devices है और ये सभी कंप्यूटर के भाग यानि पार्ट ही है.

Keyboard

  • Keyboard कंप्यूटर का मुख्य पार्ट है ये एक Hardware इनपुट डिवाइस है जिसे कंप्यूटर को Text द्वारा निर्देश देने / डाटा डालने यानि कंप्यूटर से बातचित करने के काम में लिया जाता है.
  • इसका आविष्कार क्रिस्टोफर लॉथम शॉल्स ने किया था.
  • कीबोर्ड आमतौर पर 3 तरह के होते है QWERTY , AZERTY और DVORAK कीबोर्ड पर आज के टाइम में QWERTY कीबोर्ड ही सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाते है.
  • एक standard keyboard में 100 से 104 keys / बटन होते है.
  • एक keyboard में 3 तरह की keys होती है.
    • Alphanumeric keys: जिसमे अक्षर (letter) और नंबरों (Numbers) keys / बटन होती है
    • Punctuation keys: जिसमे comma, colon, semicolon आदि keys आती है
    • Special keys: इसमें कई तरह की कीस होती है जैसे Function key, Arrow key, Window key, Control key, Alt key, Caps Lock key, etc

Mouse

  • माउस एक इनपुट डिवाइस है जिसे कंप्यूटर के GUI में कर्सर / arrow को control करने और किसी text, folder या icon को select, move, cut, paste अदि के काम में लिया जाता है.
  • आमतौर पर mouse को Pointing device के नाम से भी जाना जाता है.
  • माउस की आविष्कार डॉक्टर डगलस एन्जेलबार्ट ने किया था.
  • एक स्टैण्डर्ड माउस में 2 बटन और एक व्हील होता है जिनसे सिंगल क्लिक डबल क्लिक और ड्रॉग्गिंग स्क्रॉलिंग आदि से कंप्यूटर में डाटा देके काम में लिया जाता है.

Joy Stick

  • Joy Stick एक इनपुट डिवाइस है जोकी कंप्यूटर में कर्सर कण्ट्रोल के काम में आता है
  • इसे अधिकतर सिर्फ कंप्यूटर में Gaming Application और Graphic Application के ही काम में लिया जाता है
  • इसका आविष्कार C. B. Mirick ने किया था
  • एक स्टैण्डर्ड जॉय स्टिक में Rotating handle और button होते है जिसे मूवमेंट करके काम में लिया जाता है

Scanner

  • स्कैनर hardcopy images, Posters, Magazines आदि Pages को स्कैन करके उनकी Graphical Image बनता है और कंप्यूटर को डाटा की तरह देता है ताकि उन्हें कंप्यूटर पर edit और display किया जा सके.
  • स्कैनर एक input device है.
  • स्कैनर का आविष्कार Ray Kurzweil ने किया था.

इसके अलावा भी कंप्यूटर के कई input devices होते है जोकि सभी parts of computer है जैसे Microphone, Camera, Touchscreen आदि.

Output Device Parts of Computer

आउटपुट देवीकेस कंप्यूटर के ऐसे पार्ट होते है जो कंप्यूटर से डाटा को recieve करते है और फिर उस डाटा को किसी और फॉर्म में कन्वर्ट करते है जैसे ऑडियो वीडियो टेक्स्ट और हार्डकॉपी प्रिंट पेजेज आदि.

इनपुट और आउटपुट डिवाइस में सिर्फ एक ही डिफरेंस है इनपुट देवीकेस में कंप्यूटर को डाटा सेंड करते है जबकि आउटपुट देवीकेस कंप्यूटर से डाटा रइवे करते है जैसे एक्साम्प्ले के तौर मान लीजिये जब कही audio रिकॉर्ड करते है तो मिछ की जरुरत पड़ती है जोकि एक इनपुट डिवाइस है वो हमारे ऑडियो को रिकॉर्ड करके सिस्टम को सेंड करता है दूसरी और जब हम किसी ऑडियो को सुनते है तो हमे स्पीकर की जरुरत पड़ती है जो कंप्यूटर से ऑडियो को रइवे करता है और प्ले करता है.

चलिए अब हम जानते है उन Parts of Computer in Hindi के बारे में जो Output Device की केटेगरी में आते है. जैसे प्रिंटर तोर हैडफ़ोन स्पीकर आदि.

Printer

  • Printer एक आउटपुट डिवाइस है जो कंप्यूटर से टेक्स्ट और ग्राफिकल जानकारी को डाटा के रूप में लेता है और उसे पेपर या पेज पर प्रिंट कर देता है.
  • इसका का आविष्कार Johannes Gutenberg ने किया था.
  • प्रिंटर द्वारा जानकारी जिस पेज या पेपर पर प्रिंट की जाती है उसे hardcopy कहते है.
  • printer कही तरह के होते है जैसे –
    • Laser Printers – ये प्रिंटर्स लेज़र बीम द्वारा डाटा को पेज पर प्रिंट करते है.
    • Solid Ink Printers – इसमें प्रिंटर पेज पर प्रिंट करने के लिए solid ink का उसे करते है जिससे काफी साफ़ colors आते है.
    • Dot Matrix Printers – ये प्रिंटर काफी पुराने समय के प्रिंटर है इनमे छोटे छोटे डॉट्स से जानकारी को पेज पर प्रिंट किया जाता है.
    • LED Printers – ये काफी हद तक लेज़र प्रिंटर की तरह ही होते है पर इनमें diode यानि Transistor का इस्तेमाल किया जाता है.

Monitor

  • मॉनिटर एक इलेक्ट्रॉनिक विसुअल डिस्प्ले स्क्रीन है जिसमे कंप्यूटर की जानकारियों को देखा जा सकता है.
  • इसका का आविष्कार Karl Ferdinand Braun द्वारा किया गया था.
  • इसको (VDU) विसुअल डिस्प्ले यूनिट भी कहा जाता है.
  • Monitor कई तरह के होते है जैसे –
    • CRT (cathode ray tube) monitors.
    • LCD (liquid crystal display) monitors.
    • LED (light-emitting) monitors.

Headphones

  • हेडफोन्स एक आउटपुट डिवाइस है जिन्हे हम अपने कानो में लगाकर कोई भी ऑडियो बिना किसी को disturb करे सुन सकते है
  • हेडफोन्स कई तरह के होते है जैसे –
    • In-Ear
    • Ear Bud
    • Bluetooth Headphones , आदि

Speakers

  • स्पीकर एक आउटपुट डिवाइस है जो आवाज उत्पन्न करने के लिए कंप्यूटर से जुड़ा होता है.
  • Abinawan Puracchidas ने कंप्यूटर स्पीकर का आविष्कार किया था.
  • स्पीकर कई तरह के होते है जैसे –
  • Subwoofer.
  • Woofer.
  • Mid-range ड्राइवर.
  • Tweeter.

Printer, Monitor, Speaker, Headphone के अलावा भी कई तरह के Output डिवाइस होते है जैसे GPS, Projector आदि.

ये तो हमने बात की उन पार्ट्स ऑफ़ कंप्यूटर इन हिंदी के बारे में जो कंप्यूटर की इनपुट और आउटपुट देवीकेस में आते है चलिए अब हम जानते है कुछ ऑफ़ पार्ट्स ऑफ़ कंप्यूटर के बारे में जैसे CPU स्टोरेज देवीकेस आदि.

CPU

  • CPU का फुल फॉर्म होता है Central Processing Unit इसे अक्सर Processor, Microprocessor और Central Processor के नाम से भी जाना जाता है कंप्यूटर में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर द्वारा दिए गए सभी निर्देशों को CPU ही हैंडल करता है.
  • ये कंप्यूटर का सबसे Main पार्ट होता है.
  • इसे कंप्यूटर का Brain यानि दिमाग भी कहा जाता है.
  • ये केवल एक छोटी से चिप होती है जिसमे करोडो छोटे छोटे ट्रांजिस्टर होते है इस चिप को इस भी कहा जाता है.
  • इसे सबसे पहले Intel कंपनी ने Ted Hoff द्वारा सं1970 में बनाया था.
  • CPU Chip कई तरह के होते है जैसे Intel, AMD आदि.

Storage Device Parts of Computer

चलिए जानते है अब उन पार्ट्स ऑफ़ कंप्यूटर के बारे में जोकि Memory Storage के काम आते है जैसे Hard disk, RAM, ROM आदि.

Hard Disk

  • हार्ड डिस्क एक नॉन वोलेटाइल (यानि बिजली ना होने पर भी रहने वाली) स्टोरेज डिवाइस है जो पहले से कंप्यूटर में मौजूद होती है और कंप्यूटर के छपु से जुड़े होने पर इसे इंटरनल हार्ड डिस्क भी कहते है.
  • इसे को hard drive, HDD और HD के नाम से भी जाना जाता है.
  • इसका आविष्कार IBM कंपनी में Reynold B. Johnson ने किया था.
  • हार्ड डिस्क को कंप्यूटर में जरुरत के हिसाब से बढ़ाया और घटाया जा सकता है.
  • कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर फाइल्स आदि सभी डाटा internal हार्ड डिस्क में ही होता है.

RAM

  • रैम की फुल फॉर्म होती है Random Access Memory. ये एक तरह की hardware डिवाइस है जो Information को computer के On रहने तक store करके रखती है इसलिए इसे Non-Volatile मेमोरी ही कहते है.
  • ये कंप्यूटर के motherboard के slot में इनस्टॉल होती है.
  • इसे भी जरुरत के अनुसार बढ़ाया जा सकता है.
  • राम का आविष्कार Robert Heath Dennard ने किया था.
  • राम कई तरह की होती है जैसे –
    • DIMM, RIMM, SIMM, SO-DIMM, आदि

ROM

  • ROM का फुल फॉर्म है Read Only Memory इसमें सिर्फ मेमोरी को read किया जा सकता है.
  • ये एक नॉन वोलेटाइल मेमोरी है.
  • रोम का एक्साम्प्ले कंप्यूटर में BIOS मेनू है.आमतौर पर ROM कई तरह की होती है जैसे –
    • ROM.
    • PROM.
    • EPROM.
    • EEPROM.
    • Flash memory.

इन सभी storage device के अलावा भी कई सारे स्टोरेज डिवाइस है जोकि पार्ट ऑफ़ कंप्यूटर में आती है जैसे USB, MEMORY Card आदि.

Conclusion

तो दोस्तों आई होप की आपको आज What is Parts of Computer in Hindi आसानी से समझ आ गया होगा और शायद अब आपको पार्ट्स ऑफ़ कम्यूटर इन हिंदी के लिए कही से कुछ और पढ़ने की जरुरत बिलकुल नहीं होगी आज हमने कंप्यूटर के लगभग हर तरह के पार्ट्स के बारे में डिटेल से जाना साथ ही जाना ये क्या काम करते है इन्हे किसने बनाया था, इनके टाइप्स आदि.

दोस्तों अगर अभी भी आपको Parts of Computer in Hindi में कोई confusion या आपका मन में कोई सवाल हो तो आप मुझे निचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे मैं पूरी मै पूरी कोशिश करूंगा की आपके सवालो के जवाब जल्द से जल्द आपको दूँ इसी के साथ आप हमे सोशल मीडिया Facebook, Twitter, Instagram पर भी follow कर सकते है और हमारे सभी लेटेस्ट ब्लॉग की जानकारी सबसे पहले पा सकते है

तो दोस्तों इसी के साथ फिर मिलते है किसी नयी जानकारी के साथ तब तक के लिए धन्यवाद् !! जय हिंद / जय भारत !!

ये भी जानिये

Search Engine क्या है और कैसे Work करता है 

IFSC Code क्या है और ये कैसे काम करता है?

Generation of Computer in Hindi – कंप्यूटर की पीढ़ियाँ

Web Server क्या है और कैसे समझे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here