C Language क्या है और इसे कैसे सीखे?

1
186
C language क्या है (C language in hindi)

दोस्तों आज मै आपको C language क्या है और कैसे C language सीखे. इसकी पूरी जानकारी देने जा रहा हुं. दोस्तों अगर आप एक student है और Software Engineering मे अपना Career बनाना चाहते है. तो फिर आपको ये Language आना बहुत ज्यादा जरुरी है. क्युकी programming की दुनिया मै ये एक बेसिक लैंग्वेज है और इंटरव्यू मे Companies आपसे बेसिक लैंग्वेज जैसे C++ language पर ही अधिकतर सावल पूछती है.

C language क्या है और इसे कैसे सीखे, ये जानने से पहले मे आपको इसके बारे मे कुछ interesting बाते जरूर बताऊंगा. जिससे आपको इसे सिखने और जानने की इच्छा और भी ज्यादा हो जाएगी.

वैसे C computer programming हिस्ट्री की इकलौती ऐसी programming language है. जो सबसे ज्यादा लम्बे समय तक आज भी इस्तेमाल में ली जाती है. इसके अलावा दोस्तों हम आमतौर पर जो calculators इस्तेमाल करते है वो भी इसी लैंग्वेज पर ही program किये हुए होते है.

तो चलिए दोस्तों अब बिना आपको और तड़पाये शुरू करते है की C Language in hindi मे और C language को कैसे सीखे.

C क्या है (What is C Programming Language in Hindi)

C language एक Structured Programming language है. जिसे शुरुआती समय मे Operating System को डिज़ाइन करने के लिए Dennis Ritchie द्वारा सन 1973 मे Bell Telephone कंपनी की एक Laboratories मे develop किया गया था C programming लैंग्वेज किसी भी Operating System (जैसे Windows Linux Mac) और इसमें उसे होने वाली Applications जैसे Assemblers, Text editors, Language Compilers, Network Drivers, Utilities आदि को लिखने के लिए सबसे Basic प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है.

दोस्तों ऐसा कहा जाता है की ‘C’ बाकी सभी Programming Language की भगवान है. यहाँ तक की ऐसा मन जाता है की programming का आधार भी C ही है. इसके अलावा दोस्तों ऐसा भी कहा जाता है की अगर आप ये ये लैंग्वेज जानते है तो आप बाकी दूसरी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी बड़ी आसानी से सिख सकते है जोकि C के concept पर आधारित होती है. इसके बाद आने वाली programming languages जैसे C++, Java, Javascript, python आदि भी C programming के Syntax पर ही आधारित है.

C Language के features in Hindi 

Simple Programming Language

चुकी ये एक Structured Programming Language है. इसलिए इसे लिखते समय टुकड़ो मे अलग अलग modules बनाकर लिखा जा सकता है. ये फीचर इसे काफी simple बना देता है और साथ ही साथ ये फीचर इसमें आने वाली complexity को भी आसान कर देता है.

Machine Independent 

इसमें लिखे हुए programs किसी भी दूसरे Machine या System पर आसानी से Compile यानि चलाये जा सकते है. ये फीचर C Language को Machine Independent बनाता है.

Middle-Level Language 

ये एक Middle-Level की Programming Language है. जिसे डेवेलपर High-Level या Low-Level दोनों तरह की Applications बनाने मे आसानी से Use ले सकते है.

इसमें Inbuilt Functions होते है

इस Language मे काफी सारे पहले से मौजूद Inbuilt functions होते है. जोकि इसे development मे काफी तेज़ बना देते है. ये Inbuilt functions एडवांस प्रोग्रामिंग मे भी काफी मददगार होते है .

Memory Management 

C language Dynamic Memory Allocation के फीचर को support करता है. जिससे डेवलपर allocate की गयी memory को सिर्फ एक function free() को लिखने से ही Free कर सकता है. ये फीचर developers को memory management मे काफी मदद करता है.

सबसे Fast Programming Language है

C language मे compilation और execution दूसरी सभी programming Language जैसे C++, Java, Python आदि से बहुत fast होता है. इसलिए ये दुनिया की सबसे fast processing programming लैंग्वेज भी है. इसका example हम calculator को भी मान सकते है जो की C language मे ही डिज़ाइन होते है और उनकी calculations काफी fast होती है.

Pointer Function

इसमें Pointer Function का इस्तेमाल होता है. जोकि memory को हर तरह से optimize यानी सही तरह से use करने के लिए काम अता है.

इसमें लिमिटेड Keywords है 

  • C मे total 32 Keywords है.
  • जिसेमे से 27 keywords Denis Ritchie द्वारा बनाये गए थे.
  • बादमे 5 keyword इसमें ANSI (America National Standard Institute) ने दिए.
  • C Language की क्षमता इसके in-built functions मे है.

C Language का इतिहास (History of C Language in हिंदी)

दोस्तों C की history काफी interesting यानि मजेदार है. तो चलिए जानते है क्या है C Language का इतिहास History of C Language.

C language को Dennis Ritchie द्वारा सन 1973 मे AT&T (America Telephone and Telegraph) की एक Bell नाम की Laboratory मे develop किया गया था. इसलिए Denis Ritchie को ‘C’ का पिता यानि की Father of C Language भी कहा जाता है. वैसे तो इसको को उससे पहले आयी programming languages जैसे B, BCPL आदि की Problems को solve करने के लिए डेवेलोप किया गया था. पर फिरत बादमे C को UNIX Operating System को develop करने मे use लिया गया.

C से पहले आयी programming languages 

चलिए अब एक नजर डालते है उन programming languages पर जो C से पहले और बादमे develop की गयी थी.

Algol1960International Group
BCPL1967Martin Richard
B1970Ken Thompson
Traditional C1972Dennis Ritchie
K & R C1978Kernighan & Dennis Ritchie
ANSI C1989ANSI
ANSI/ISO C1990ISO
C991999Standardization

C language का use कहा है 

क्युकी C language काफी fast processing वाली लैंग्वेज है. इसलिए इसका use Operating System, ,Embedded System, Electronics Devices, System application आदि develop करने में किया जाता है. इसके अलावा इसका इस्तेमाल और भी चीजों के development में किया जाता है. जैसे 

  • Text Editors 
  • Compilers 
  • Network Drivers 
  • Database 
  • Utilities 
  • Interpreter 
  • Games 
  • Electronic Devices

Computer मे C कैसे Install करे

  • सबसे पहले Turbo C++ जोकि एक C compiler और Editor है. उसे इस link से https://archive.codeplex.com/?p=turboc Download करे.
  • उसके बाद Computer के C drive मे turboc नाम से एक folder बनाये और इस folder मे download की गयी file को extract करे.
  • उसके बाद install.exe file पर double click करे और instructions को follow करे.

C मे Program लिखने के Rules 

ये एक Case Sensitive programming language है यानि अगर मे आसान भाषा मे कहु तो Capital और Small अक्षरों मे लिखा गए एक जैसे शब्द अलग अलग होते है जैसे “DOG” और “dog” दोनों अलग अलग शब्द है।

  • इसमें सभी keywords ही lowercase मे होते है है यानि small letters मे होते है.
  • इसके के program को save करने के लिए हमेशा उसे .c extension लगाना होता है जैसे myfirstprogram.c आदि
  • इसमे हर statement यानि हर line को ख़त्म करने के लिए लास्ट मे ‘;’ को लगाना पड़ता है इसे टर्मिनेटर भी कहते है. जिसका मतलब होता है खत्म करना.

C कैसे काम करती है

दोस्तों C एक compiled language है जिसमे Compiler एक ऐसा tool है जो program को compile करता है और किसी source program को object file में convert करता है जोकि सिर्फ machine द्वारा ही समझी जा सकती है. Compilation होने के बाद linker जोकि अलग अलग files को एक दूसरे के साथ जोड़ता है और जोड़कर एक single executable file बनता है जो program को Run करती है या चलाती है.

C Program के Compilers

वैसे तो आज के समय में बहुत सरे compilers online मौजूद है. आप उनमें से कोई भी C program को चलाने के लिए Use कर सकते है. दोस्तों निचे मेंने कुछ compilers बताये है. जोकि आपको एक simple इंटरफ़ेस provide करते है जिनकी मदद से आप काफी आसानी से C program लिख और Run कर सकते है

  • Clang Compiler
  • Turbo C
  • Turbo C++
  • Portable C compiler 

C language क्यों सीख

दोस्तों जैसे की मेने ऊपर बताया था की C बाकि सभी programming language की base है. तो अगर आप ‘C’ को सीखेंगे तो आपको बाकि दूसरी लैंग्वेज सिखने में काफी आसानी होगी.

C एक structured programming language है. जो प्रोग्राम को अलग अलग modules में बाँट देता है और फिर एक single ‘C’ program बनता है. इससे program को maintain और test करना काफी आसान हो जाता है.

‘C’ में सिर्फ 32 keywords होते है जिसे बहुत आसानी और जल्दी से सीखा जा सकता है

इसको compile करने के लिए बहुत सरे compilers मौजूद है. जिससे C programs को आसानी से execute किया जा सकता है.

ये एक highly portable language है जिसका मतलब है की इसमें मे लिखे गए programs दूसरी machines या systems पर भी आसानी से चलाये जा सकते है. ये feature इस बहुत ख़ास बनता है.

अभी तक C language को सबसे Fast language मना जाता है और इसके program दूसरी लैंग्वेज के मुकाबले काफी fast process होते है. 

C language को कैसे आसानी से सीखे

दोस्तों मे आपको यहाँ मेरा example दूंगा की किस तरह से मैंने C को सीखा था. सबसे पहले दोस्तों मैंने C के बारे मे कई सारी websites और किताबो पर बेसिक पढ़ना शुरू किया जैसे C Language क्या है? C के Syntax, Variables, Structure आदि उसके बाद मैंने C के basic Program लिखना शुरू किया. जैसे ‘hello world’ आदि लिखना शुरू किया फिर उसके बाद कई सारी websites की मदद से C मे छोटे छोटे projects बनाना शुरू किया जैसे Calculator, Snake Game आदि. दोस्तों आप भी अगर C को सीखना चाहे तो मेरा तरीका use कर सकते है.

C सिखने के लिए Websites

दोस्तों मे आपको यहाँ कुछ websites के बारे मे बताने जा रहा हूँ जोकि आपको काफी मदद करेगी और आप सिखने के लिए इनका इस्तेमाल कर सकते है।

C from Developer Inside

Learn From C Org

Programiz

Conclusion

दोस्तों मै आशा करता हूँ की आपको मेरे इस ब्लॉग C Language क्या है और इसे कैसे C Language सीखे के बारे मे पूरी तरह जानकारी मिली होगी। दोस्तों मेरा यही उद्देश्य था की मे आपको C Language in Hindi मे पूरी basic जानकारी दूँ जिससे आप C के features, uses, history जैसे जानकारी प्राप्त कर सके. इसके के साथ दोस्तों अगर आपके मन मे C से related कोई सवाल है. तो नीचे comment box मे ज़रूर लिखिए ताकि मे आपको इसपर अच्छे से जानकारी दे सकू.

दोस्तों अगर आप किसी और विषय पर भी जानकारी पाना चाहते है. तो मुझे जरुरु comment करे मै कोशिश करूंगा की आपको जल्द से जल्द उस विषय पर जानकारी दू। धन्यवाद , जय हिन्द

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here